Koo App का नया लोगो लॉन्च! Twitter को दे रहा है टक्कर ये भारतीय ऐप

May 14, 2021 0 Comments


लोगो का अनावरण आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रवि शंकर ने किया

ट्टिटर को टक्कर दे रहा है यह भारतीय ऐप पिछले साल 2020 में मार्च को लॉन्च हुआ था और अब तक इसके 60 लाख से ज्यादा यूजर्स बेस बन चुका है. वहीं यह तेजी से भारत में लोकप्रिय हो रहा है. Koo यूजर्स को अपने लोकल भाषा में अपने विचार को शेयर करने का ऑप्शन देता है.

नई दिल्ली. ट्विटर (Twiter) जैसे के फीचर से लैस भारतीय सोशल माडिया ऐप ‘कू’  (koo) ने अपना नया लोगो (new logo) लॉन्च कर दिया. लोगों में चिड़िया(Bird) का कलर वहीं पीला (Yellow) ही रखा गया है हा लेकिन नए स्टाइल में. ट्टिटर को टक्कर दे रहा है यह भारतीय ऐप पिछले साल 2020 में मार्च को लॉन्च हुआ था और अब तक इसके 60 लाख से ज्यादा यूजर्स बेस बन चुका है. वहीं यह तेजी से भारत में लोकप्रिय हो रहा है. Koo यूजर्स को अपने लोकल भाषा में अपने विचार को शेयर करने का ऑप्शन देता है. मालूम हो Koo को भारतीय केंद्र सरकार के कई मंत्रालय से लेकर कई केंद्रीय मंत्री भी इस्तेमाल करते है. Koo के नए लोगो का अनावरण आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रवि शंकर ने अपने 65वें जन्मदिन पर किया . इस मौके पर श्री श्री रवि शंकर ने कहा कि सामाजिक संपर्क और सूचना का प्रवाह सभ्य समाज के संकेत हैं, Koo ऐप देश और दुनिया भर में लाखों लोगों को जोड़ रही है. आज मैं Koo के नए लोगो को लॉन्च करके बहुत खुश हूँ. इतने कम समय में Koo को बनाने वाली टीम को मेरी तरफ से बधाई. 

नन्ही चिड़िया उड़ान भरने के लिए तैयार

दूसरी तरफ Koo के को-फाउंडर, अप्रमेय राधाकृष्ण ने इस मौके पर बताया कि हम अपनी लोगों को सबके सामने लाने के लिए बहुत उत्साहित हैं, यह नया रूप हमारी नन्ही पिली चिड़िया के बालपन से किशोरावस्था में बढ़ने का संकेत है. यह नया लोगो पाजिटिविटी से भरी हुई है और लोगो को समाज और जीवन के विभिन्न पहलुओं के बारे में सबसे सकारात्मक तरह से वार्ता और चर्चा करने के लिए प्रेरित करेगी. यह नन्ही चिड़िया उड़ान भरने के लिए तैयार है. हम गुरुदेव श्री श्री रवि शंकर के आभारी हैं कि उन्होंने अपने 65 वें जन्मदिन के शुभ दिन पर कू के नए लोगो का उद्घाटन किया.

ये भी पढ़ें – 1000 रुपये का सोना खरीदने पर 2100 का गोल्ड फ्री दे रहा पेटीएम! जाने डिटेल्स

जोड़ा यह नया फीचर भी 

‘कू’ (Koo) में हाल ही में एक नया फीचर भी गया है, जिसके ज़रिए अब यूज़र्स अब बोलकर अपना मैसेज भेज सकेंगे. इस फीचर का नाम ‘Talk to type’ रखा गया है, और इससे अब यूज़र्स बोलकर मैसेज को टाइप कर पाएंगे. खास बात है कि ये फीचर देश की सभी रीजनल लेंग्वेज को सपोर्ट करता है. यानी अब पोस्ट लिखने के लिए स्मार्टफोन पर टाइपिंग की ज़रूरत नहीं होगी. Koo का कहना है कि ये फीचर उनके लिए बहुत काम का साबित होगा जिन्हें लोकल भाषा टाइप करने में परेशानी का सामने करना पड़ता है. और यूज़र सिर्फ बोल कर अपनी भाषा में टाइप कर सकते हैं. Koo पहला सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जिसने इस फीचर को लॉन्च किया है. ये फीचर यूजर्स को फेसबुक, ट्विटर या किसी दूसरे ग्लोबल प्लेटफॉर्म पर नहीं मिलेगा.









Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *